ApnaCg@वनक्षेत्र भूतकछार में फिर से अतिक्रमण का प्रयास (अतिक्रमणकारियों को हटने के लिए समझाइश दी जा रही)

0

जितेंद्र पाठक/लोरमी@अपना छत्तीसगढ़ – लोरमी के खुड़िया वनक्षेत्र में अतिक्रमणकारियों का कब्जा का प्रयास अब भी जारी है। खुड़िया रेंज के भूतकाछार में एक बार फिर अतिक्रमणकारीयों की नजर लगी और तीन सौ से अधिक अतिक्रमणकारी जंगल में अतिक्रमण करने पहुंच गए। सभी अतिक्रमणकारी कबीरधाम जिले के बोड़ला ब्लॉक के आगरपानी, तेलियापानी और नवापारा के रहने वाले हैं।
आपको बताना चाहेंगे कि अचानकमार टाइगर रिजर्व के कई वनग्रामों में अतिक्रमण करने वालों का प्रयास घटने का नाम ही नहीं ले रहा है। 16 अगस्त को खुड़िया वनक्षेत्र में फिर से सैकड़ों लोगों के द्वारा अतिक्रमण करने का प्रयास किया गया। इसकी सूचना जब वन विभाग को मिली तब मौके पर पहुँच गयी और उनके द्वारा अतिक्रमणकारियों को उनके गांव वापस जाने की समझाइश दी जा रही है। लेकिन अतिक्रमणकारी वापस जाने को राजी नही हो रहे हैैं।

गौरतलब है कि एक वर्ष पूर्व भी इन अतिक्रमणकारियों के द्वारा खुड़िया वनपरिक्षेत्र के भुतकछार के कक्ष क्रमांक 478 और 487 आरएफ में अतिक्रमण करने की कोशिश की गई थी, जिस पर वन विभाग, जिला प्रशासन की मदद से अतिक्रमणकारियों को उनके गांव वापस भेजा गया था। वहीं इस मामले में कुछ लोगों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर उन्हें जेल भी भेजा गया था, लेकिनअब फिर से लोगों के द्वारा भूतकछार के जंगलों में अतिक्रमण करने की कोशिश की जा रही है। इधर इस मामले में अतिक्रमणकारियों का कहना है कि जिस जमीन पर खेती करते हैं, वहां चट्टान होने के कारण खेती नहीं हो पा रही है जिसके कारण उनके सामने रोजी-रोटी की समस्या है ।इसलिए वे यहां बस्ती बसाने की उद्देश्य से आए हुए हैं। इस

मामले में खुड़िया वन परिक्षेत्र के रेंजर लक्ष्मण दास पात्रे ने बताया कि इन्हें समझाइश दी जा रही है कि वे अपने गांव वापस चले जाएं और जिले के कलेक्टर और अधिकारियों से अपनी समस्या को रखें, ताकि समस्या दूर हो सके । जंगल में बैठन का अधिकार किसी को नहीं है, यह कानूनन अपराध माना जाता है ।लगातार इन्हें समझाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन सभी अतिक्रमणकारी यहां से हटने को राजी नहीं हैं। इसकी सूचना उच्च अधिकारियों को दी जाएगी।

अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक
Author: अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक

The news related to the news engaged in the Apna Chhattisgarh web portal is related to the news correspondents. The editor does not necessarily agree with these reports. The correspondent himself will be responsible for the news.

Leave a Reply

You may have missed

error: Content is protected !!