ApnaCg@कलेक्टर श्री देव ने किया एटीआर क्षेत्र के सुदूर वनांचल के आधा दर्जन गावों का सघन भ्रमण

0

प्रत्येक पात्र व्यक्ति पेंशन और राशन से नहीं होगा वंचित – कलेक्टर

जिले में बैगा जनजाति के प्रत्येक गर्भवती माताओं को मिलेगा गरम भोजन

एटीआर क्षेत्र के लोगों के लिए एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध

जल जीवन मिशन के कार्यों में गुणवत्ताहीन सामग्रियों का उपयोग करने वाले ठेकेदार होंगे ब्लैक लिस्टेड

गांवों में चौपाल लगाकर सुनी ग्रामीणों की समस्याएं

मुंगेली @अपना छत्तीसगढ़ – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप आमजनों की समस्याओं के निराकरण के लिए कलेक्टर राहुल देव ने कल 22 सितम्बर को जिले के लोरमी विकासखंड के अचानकमार टाईगर रिजर्व (एटीआर) में प्रवाहित नदी-नालों को पार कर सुदूर वनांचल क्षेत्र के ग्राम अचानकमार, सारसडोल, बिंदावल, छपरवा, लमनी और अतरिया पहुंचे और इन गावों में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं से रूबरू हुए। इस अवसर पर अपर कलेक्टर तीर्थराज अग्रवाल सहित स्वास्थ्य, शिक्षा, आदिवासी विकास और निर्माण विभाग के अधिकारी उनके साथ थे।
कलेक्टर श्री देव ने आधा दर्जन गावों में आयोजित जनचैपाल में ग्रामीणों से मूलभूत सुविधाएं राशन, पेंशन, पेयजल, सड़क, बिजली, स्कूल, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य सुविधा, पटवारी, ग्राम सचिव की उपस्थिति तथा जंगली जानवरों से फसल एवं जनहानि आदि के संबंध में ग्रामीणों से जानकारी ली और ग्रामीणों की समस्याओं को गंभीरतापूर्वक सुनी। ग्रामीणों में कलेक्टर को अपने बीच पाकर उत्साह का माहौल था। कलेक्टर के सरल और सहज स्वभाव से ग्रामीण काफी प्रभावित हुए और बेझिझक अपनी बातें रखी।
कलेक्टर ने कहा कि वन क्षेत्र के लोगों को राशन, पेंशन, स्वास्थ्य सुविधा, सड़क, बिजली जैसे मूलभूत सुविधाओं की कमी नहीं होगी। इस संबंध में उन्होंने सूचनाओं के आदान-प्रदान करने के लिए संचार साधनों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि कहीं भी मूलभूत की सुविधाओं में कमी होने पर ग्राम पंचायतों में अंकित काल सेंटर के सम्पर्क नम्बर 9406275513, 9406275514, 9406275534, 9406275535 और 9406275537, 7489583575 और 7489526478 पर सम्पर्क कर सकते हैं। इस अवसर पर उन्होंने जंगली जानवरों से हुए फसल हानि आदि का मुआवजा प्रदान करने हेतु प्रकरण बनाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। चौपाल में कलेक्टर ने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत कुपोषण की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में जिले को सुपोषित जिला बनाने हेतु लगातार कार्य किया जा रहा है। आंगनबाड़ी केन्द्रों में एनीमिक महिलाओं तथा 03 वर्ष से 06 वर्ष के बच्चों एवं 06 माह से 03 वर्ष के 10 ग्राम से कम हीमोग्लोबिन वाले (एनीमिक) सभी बच्चों को पौष्टिकता युक्त गरम भोजन दिया जा रहा है। अब बैगा जनजाति के प्रत्येक गर्भवती माताओं को पौष्टिकतायुक्त गरम भोजन दिया जाएगा। इसी तरह लोगों को बेहतर स्वास्थ्य उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिीनिक योजना का संचालन किया जा रहा है। इस योजना के तहत जिले के 41 हाट बाजारों में एक चिकित्सा अधिकारी के साथ अन्य चिकित्सकों द्वारा उपस्थित होकर लोगों का उपचार व जांच किया जा रहा है। उन्होंने हाट बाजारों में जांच एवं उपचार कराने की समझाईश दी। इसके अलावा एटीआर क्षेत्र के लोगों को तत्काल बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए एक एम्बुलेंस की स्वीकृति दी गई है और यह एम्बुलेंस लमनी से संचालित होगी। इस संबंध में उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम लमनी में संचालित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक शाला के संबंध में जानकारी प्राप्त की और उन्होंने मरम्मत योग्य इन संस्थाओं का एवं जीर्णोद्धार एवं मरम्मत करने के लिए ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। इसी तरह ग्राम अचानकमार में उमाशंकर साकत के घर पहुंचकर सौर ऊर्जा से संचालित बिजली का बल्ब जलाकर सौर संयंत्र के क्षमता की जानकारी ली और एटीआर क्षेत्र के प्रत्येक गावों में सौर संयंत्रों की क्षमता वृद्धि करने के निर्देश दिए। इसी तरह जल जीवन मिशन के कार्यों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि लोगों को उनके घर पर ही स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए पाइपलाईन सहित अन्य निर्माण कार्य किया जा रहा है। उन्होंने जल जीवन मिशन के कार्यों में गुणवत्ताहीन सामग्रियों का उपयोग करने वाले ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड करने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियांत्रिकी को आवश्यक निर्देश दिए। इसी तरह खराब हैंड पंपों को मरम्मत कराने के भी निर्देश दिए। उन्होंने शासकीय आदिवासी बालक आश्रम छपरवा में आयोजित जनचौपाल में आदिवासी वर्ग के युवक एवं युवतियों से मुलाकात की और उन्होंने कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षित बांस शिल्पी श्रीमती पांचों बाई सहित अन्य शिल्पियों को दी गई निर्माण सामग्री के साथ अपने कार्य को पुनः प्रारंभ करने की समझाईश दी। दूरस्थ वनांचल ग्राम अतरिया के ग्रामीणों ने प्राथमिक शाला में शिक्षक की मांग की। कलेक्टर श्री देव ने नजदीक के शाला में पदस्थ अघनसिंह पैकरा को ग्राम अतरिया में पदस्थ करने के जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर नवीन भगत, लोरमी अनुविभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्रीमती पार्वती पटेल, जिला शिक्षा अधिकारी सतीष पाण्डेय, महिला बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी सुरेश कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. मधुलिका सिंह, जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के कार्यपालन अभियंता पी. के शर्मा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता श्री मंडावी, आदिवासी विकास विभाग के सहायका आयुक्त सुश्री शिल्पा साय, जनपद पंचायत लोरमी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राजीव तिवारी, ग्राम अचानकमार के सरपंच मनोज यादव, छपरवा, बिंदावल, तिलईडबरा के सरपंच रामावतार जायसवाल, ग्राम लमनी, अतरिया के सरपंच अमित कुमार अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक
Author: अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक

The news related to the news engaged in the Apna Chhattisgarh web portal is related to the news correspondents. The editor does not necessarily agree with these reports. The correspondent himself will be responsible for the news.

Leave a Reply

You may have missed

error: Content is protected !!