ApnaCg @पहली बार केजरीवाल ने अपने दो मंत्रियों का नाम लिया,कोर्ट में अपना नाम सुन चौंक गए सौरभ भारद्वाज और आतिशी

0


ईडी का दावा- केजरीवाल ने आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम लिया


नई दिल्ली@अपना छत्तीसगढ़ । दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को 15 दिन की ज्यूडिशल कस्टडी के बाद तिहाड़ जेल भेज दिया गया है। ईडी आज सीएम को लेकर दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट पहुंची थी। अदालत में सुनवाई के दौरान ईडी ने कहा कि पहली बार इस केस में सीएम केजरीवाल ने अपने दो मंत्रियों का नाम लिया है। ईडी ने बकायदा अदालत को बताया कि केजरीवाल ने पूछताछ के दौरान अपने दो मंत्रियों सौरभ भारद्वाज और आतिशी का नाम लिया था। ईडी का दावा है कि केजरीवाल ने उन्हें पूछताछ में बताया है कि विजय नायर उन्हें नहीं बल्कि आतिशी और सौरभ भारद्वाज को रिपोर्ट करता था। इस सुनवाई के दौरान सीएम केजरीवाल, मंत्री आतिशी और मंत्री सौरभ भारद्वाज कोर्ट में ही मौजूद थे। सीएम केजरीवाल 15 अप्रैल तक तिहाड़ के जेल नंबर 2 में रहेंगे।

*पहली बार केजरीवाल ने लिया दो मंत्रियों का नाम*

ईडी आज सीएम केजरीवाल की रिमांड खत्म होने के बाद राउज एवेन्यू कोर्ट लेकर आई थी। सुनवाई के दौरान ईडी ने कोर्ट को बताया कि केजरीवाल ने पहली बार दिल्ली शराब घोटाला केस में अपने दो मंत्रियों का नाम लिया है। प्रवर्तन निदेशालय ने राउज एवेन्यू कोर्ट को बताया कि हमने शराब घोटाला केस में पूछताछ की तो उन्होंने शिक्षा मंत्री आतिशी और स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज का नाम लिया है। ईडी ने बताया कि केजरीवाल ने उनसे कहा कि एक और आरोपी विजय नायर मुझे नहीं बल्कि आतिशी और सौरभ भारद्वाज को रिपोर्ट करते थे। कुछ मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा जा रहा है कि जब ईडी ने केजरीवाल की कही बात को वहां मौजूद मंत्री आतिशी से भी पूछा तो वह कुछ नहीं बोलीं और चुप्पी साधे रखी।




*ईडी ने सामने दलील में दिया इन बातों का हवाला*

ईडी ने आज दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट को कुछ दस्तावेज प्रस्तुत किए। उसके पैरा 13.1 में लिखा है (जैसा ईडी ने बताया) कि हमने केजरीवाल को शराब बनाने वालों, थोक विक्रेताओं, खुदरा विक्रेताओं और यहां तक कि दिनेश आर्सेस और अभिषेक बेनपल्ली जैसे बिचौलियों सहित शराब के व्यवसाय में शामिल अन्य सह-अभियुक्त व्यक्तियों के सबूत दिखाए। यही नहीं ईडी का कहना है कि उन्होंने केजरीवाल और विजय नायर की 10 से अधिक बैठकों के भी सबूत पेश किए। जांच एजेंसी ने कहा लेकिन केजरीवाल ने इन व्यक्तियों के बारे में अनभिज्ञता का दावा कर सवाल टाल दिया। ईडी ने कोर्ट को यह भी बताया कि सबूत में हवाला की मदद से लगभग 45 करोड़ रुपये ट्रांसफर होने के साक्ष्य दिखाए गए। इसकी पुष्टि के लिए सीडीआर स्थानों, कॉल रिकॉर्ड, गोवा में हवाला फर्म के जब्त किए गए आईटी डेटा, आंशिक नकद और आंशिक बिल में किए जा रहे भुगतान के प्रमाण और व्हाट्सएप की मदद ली गई। हालांकि ईडी ने कहा कि केजरीवाल ने कहा कि वह इस बारे में नहीं जानते। ईडी ने यह भी बताया कि हवाला के माध्यम से 45 करोड़ रुपये इकट्ठा करने वाले इस व्यक्ति को भी आम आदमी पार्टी से सीधे अपने बैंक खाते में 2,20,340 रुपये मिले हैं। सभी सबूत दिखाने के बाद भी केजरीवाल इससे अनभिज्ञ दिखे।


*विजय नायर कौन हैं?*

विजय नायर आम आदमी पार्टी के संपर्क प्रभारी रह चुके हैं। इसके अलावा एंटरटेनमेंट जगत में भी बड़ा नाम है। वह ओनली मच लाउडर(OML)के भी संस्थापक रह चुके हैं। OML एक एंटरटेनमेंट और इवेंट मीडिया कंपनी है। वह इसके सीईओ और डायरेक्टर भी रह चुके हैं। विजय नायर के बारे में ईडी पहले ही कह चुकी है कि वह दिल्ली सरकार के कैबिनेट मिनिस्टर के आवास में बैठकर आबकारी नीति बना रहा था। वह सीएम के ऑफिस में भी काम करता था। हालांकि केजरीवाल ने कहा है कि सीएम ऑफिस में कौन काम करता है, इसकी उन्हों जानकारी नहीं थी।

*कुछ अलग था आज केजरीवाल का अंदाज*

सीएम केजरीवाल को अमूमन नीली चेक शर्ट और ट्राउजर में देखा जाता था। आज उन्होंने आम दिनों से अलग सफेद कलर की हाफ शर्ट और ट्राउजर पहना था। थोड़ी देर मीडिया के सामने आने पर उन्होंने सीधे पीएम पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जो कर रहे है, वह देश के लिए ठीक नहीं है। इसके अलावा उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल के साथ दिल्ली सरकार के दो मंत्री आतिशी और सौरभ भारद्वाज भी पहुंचे थे।


*तिहाड़ में कौन सी जेल में रहेंगे केजरीवाल?*

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को राउज एवेन्यू कोर्ट ने 15 दिन की ज्यूडिशल कस्टडी में भेजा है। मतलब वह 15 अप्रैल तक दिल्ली के तिहाड़ जेल में रहेंगे। उन्हें अब तक की खबर के अनुसार, जेल नं 2 में रखा जाएगा। केजरीवाल ने जेल के अंदर पढ़ने के लिए तीन किताबें मांगी हैं। इनमें रामायण, महाभारत और नीरजा चौधरी की किताब ‘हाउ पीएम डिसाइड’ शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंने जेल प्रशासन से गले में पहनने वाला लॉकेट साथ रखने की गुजारिश की है। इसके अलावा उन्होंने कुछ दवाइयों को भी साथ रखने की मांग की है।

*कोर्ट में अपना नाम सुन चौंक गए सौरभ भारद्वाज और आतिशी*



शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आज ईडी की रिमांड खत्म होने के बाद 15 दिन की न्यायिका हिरासत में भेज दिया गया। उन्हें तिहाड़ जेल में रखा जाएगा। ईडी ने केजरीवाल की रिमांड खत्म होने के बाद उन्हें राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया। ED की ओर से ASG राजू और केजरीवाल की ओर से रमेश गुप्ता ने पैरवी की।

*सुनीता भी सौरभ की तरफ देखने लगीं*


इस दौरान कोर्ट में ईडी की ओर से एक चौंकाने वाला खुलासा किया गया। ईडी की ओर से ASG राजू ने बताया कि केजरीवाल ने पूछताछ में आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम लिया। इस दौरान एक हैरान कर देने वाला नजारा सामने आया। दरअसल, जिस समय आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम लिया गया उस वक्त वह कोर्ट रूम में ही मौजूद थे। अपना नाम सुनकर सौरभ एकदम चौंक गए। उन्होंने अपने साथ खड़ी अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल की तरफ देखा। सुनीता ने भी सौरभ की तरफ देखा।

*कोर्ट में इनका पहली बार लिया गया नाम*

ASG राजू ने कोर्ट से कहा कि केजरीवाल ने पूछताछ में बताया कि विजय नायर मुझे नहीं, बल्कि आतिशी को रिपोर्ट करता था। उन्होंने कहा कि विजय नायर केजरीवाल के करीबी रहे हैं। केजरीवाल ने पूछताछ में कहा कि नायर उन्हें रिपोर्ट नहीं करता था, बल्कि वो आतिशी और सौरभ भारद्वाज को करता था। आबकारी मामले में आतिशी और सौरभ भारद्वाज का नाम पहली बार कोर्ट में लिया गया है। हालांकि, जब आबकारी नीति लाई ग‌ई तब दोनों ही मंत्री नहीं थे, केवल विधायक और प्रवक्ता थे।

*क्या है आरोप, केजरीवाल की गिरफ्तारी क्यों?*

ED का दावा है कि दिल्ली शराब नीति को तैयार करने और लागू करने में भ्रष्टाचार हुआ है। ईडी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मामले में मुख्य साजिशकर्ता करार दिया है। शराब नीति मामले में ही पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और संजय सिंह जेल में हैं। ईडी का कहना है कि दिल्ली शराब नीति से अर्जित किए गए पैसे का आम आदमी पार्टी ने गोवा विधानसभा चुनाव और अन्य कामों के लिए इस्तेमाल किया है। वहीं, आम आदमी पार्टी (AAP) का इन तमाम आरोपों से इनकार करते हुए कहना है  कि केजरीवाल को लोकसभा चुनाव में प्रचार करने से रोकने के लिए गिरफ्तार किया गया है।

अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक
Author: अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक

The news related to the news engaged in the Apna Chhattisgarh web portal is related to the news correspondents. The editor does not necessarily agree with these reports. The correspondent himself will be responsible for the news.

Leave a Reply

You may have missed

error: Content is protected !!