ApnaCg @जयपुर महारैली में हमारे कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने हिंदू धर्म और हिंदुत्व का जो बात बताएं भाजपा के लोगों की नींद उड़ गई – स्वामीनाथ जायसवाल

0

गणेश तिवारी @नई दिल्ली – भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामीनाथ जायसवाल ने कहा हमारे नेता राहुल गांधी ने जिस तरह से महंगाई महारैली जयपुर से संबोधित करते हुए इस भारतीय जनता पार्टी आर एस एस के लोगों को आईना दिखाने का काम किया उस बौखलाहट में गोदी मीडिया और भाजपा के प्रवक्ताओं का नीड उड़ गई है वह उस बयान को उलटफेर कर कर जिस तरह से तोड़ मरोड़ कर दिखाने और बोलने का कार्य कर रहे हैं इससे उनके दिवालियापन का सीधा साधा बात जनता को समझ में आ गई देश का विकास धर्म से जोड़कर करने का जो प्रोपेगेंडा चालू किए हैं यहां मोदी सरकार का दिवालियापन है उपलब्धि नहीं है धर्म और जात का जो प्रोपेगेंडा चालू किया जाता है यह भाजपा का नीति और सिद्धांत है धार्मिक उन्माद भाईचारा और रिश्तो में दरार डालना देश को खंड खंड में बांटने का राजनीति विकास का न्यू रखना है तो सच्चा सोच सच्ची नियत महंगाई पर कंट्रोल करना युवाओं को रोजगार देना सड़क सुरक्षा स्वास्थ्य रोजगार ए मूलभूत सिद्धांत होना चाहिए आज की युवा पीढ़ी धर्म जाति में नहीं फंसेगी उसको हर हाथ नौकरी हर हाथ काम चाहिए अच्छे दिन का वादा करने वाले नापाक इरादा से जिस तरह से देश पर काबिज होकर देश के इस संपदा को बेचना जिस तरह से धर्म का आड़ लेकर हमेशा हिंदू मुस्लिम सिख इसाई करना जातिगत समीकरणों को खंड खंड में करने का काम भारतीय जनता पार्टी को सोच और उनके दिमाग की फितरत है राहुल गांधी ने हिंदू और हिंदुत्व शब्द का जो व्याख्यान किया है वह एक देश के सच्चे सेवक होते हुए एक हितेषी के तरह सचेत किए कि हमारा धर्म एकता और अखंडता भाईचारे को जोड़ने का काम करता है और हृदय हमेशा पवित्र मन पवित्र और हमेशा सहयोग करने का सोचता है उसे हिंदू कहते हैं और जो हमेशा तोड़ने और धर्म को बांटने और जो नाथूराम गोडसे जो गांधी जी के हत्यारों का अनुपालन करते हैं वह हिंदुत्व मन में गांधी मुंह पर गोडसे यह भाजपा का नीति और मोदी सरकार का सिद्धांत है भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी नाथ जायसवाल ने बताया कि वाकई जो हमारे धर्म हिंदू धर्म और हिंदुत्व का शब्द का जन्म कैसे हुआ हिंदू धर्म में सबसे पहले 9057. ईसा’ पूर्व स्वयंभू मनु हुए 6773, ईसा पूर्व में वै वस्त मनु हुए ,भगवान श्रीराम का जन्म 5114 ईसा पूर्व और श्री कृष्ण का जन्म 3112 ईसा पूर्व बताया जाता है वर्तमान शोध के अनुसार 12 से 15 हजार वर्ष प्राचीन और ज्ञात रूप से लगभग 24 हजार वर्ष पुराना धर्म हिंदू धर्म को माना जाता है ! हिंदुत्व शब्द: इस शब्द का सरोकार किसी धर्म से नहीं है खेल से है ! अंग्रेज को एक फूट डालो राज करो वाली नीति को 1923 में सावरकर और उसके समर्थक में अमली जामा पहनाया आर एस एस की स्थापना जहर रूपी खेल का देश में परोस ना शुरू किया नोट हिंदुओं के सबसे बड़े गुरु आदि शंकराचार्य ने कभी भी हिंदुत्व शब्द का प्रयोग नहीं किया कोई खेल किसी धर्म की पहचान नहीं हो सकती और आर एस एस के विचारधारा वाले गोडसे ने जिस हमारे देश के नायक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या की वह हिंदुत्व की विचारधारा का जीता जागता उदाहरण था और हिंदू धर्म हमेशा सत्य अहिंसा और एकता अखंडता भाईचारे का स्वरूप है हिंदू धर्म जोड़ने का काम करता है एक सूत्र में पिरोने का काम करता है और लोगों की आस्था को बांधने का काम करता है एक सेतु का काम करता है और धर्म जात नीच ऊंच में कभी भेदभाव करके तोड़ने का काम नहीं करता है हां मैं हिंदू हूं हमारे हमारा विचारधारा हिंदू है हम अपने नेता राहुल गांधी के विचार धारा से सहमत हैं हमारे देश के 135 करोड़ जो आस्था और धर्म को एक धागे में पिरोने और जोड़ने का काम करता है वह सब इस विचारधाराओं से अवगत होकर हिंदू है हिंदुत्व हमेशा धर्म और जाति का आधार बनाकर तोड़ने का जो गोडसे की विचारधारा को आगे लाकर देश में गलत नीति और धारणा फैलाना और देश में वह स्थिति पैदा करना जो आपातकालीन की तरह हो देश में स्वास्थ्य शिक्षा सड़क और विकास रोजगार महंगाई इसका बात और चर्चा नहीं करता जब भी उससे सवाल खड़ा किया जाए तो वहां धर्म जाति लाकर खड़ा कर दिया जाता है धर्म हमारी संस्कृति है हमारा पहचान है लेकिन धर्म हमें जोड़ने का काम करता है लेकिन आज मूलभूत सिद्धांत यहां यह है शिक्षा रोजगार सड़क स्वास्थ्य व्यवस्था आदि हिंदुत्ववादी जो हमेशा इस पक्ष में नहीं रहते वह जुमला धर्म जाति का प्रोपेगेंडा लाकर जिससे किसान मजदूर श्रमिक को परेशान करते हैं रोजगार श्रमिक के हाथ में काम नहीं आपस में विद्रोह करो अपने अंदर एक अहंकार भरो सेवा भाव श्रद्धा सुमन और सम्मान के हमारे पूर्वजों ने सीख दी थी अतिथि देवो भव और आज हमारे देश में जिस तरह की सरकार चुनाव जब जब आता है विकास की बात पर चर्चा ना हो धर्म को आड़ में लेकर सामने खड़ा कर दी जाती है धर्म और आस्था से जुड़ा हुआ अलग बात है लेकिन हमें देश में जरूरी जो चीज है जो आज युवा शिक्षित होकर बेरोजगार हो रहे हैं देश की अर्थव्यवस्था की कमर टूट चुकी है गैस सिलेंडर रसों तेल राशन दवाई मूलभूत मुद्दा जो है महंगाई उसे देश की सरकार कोसों दूर चली गई है पेट्रोल-डीजल सरसों तेल और दलहन गैस सिलेंडर यादी सामग्रियों का बढ़ती हुई महंगाई सब्जी आसमान छूते जा रहा है लेकिन जो रोज कमाने खाने वाले व्यक्ति है उसका कोई स्रोत कमाने का नहीं है ना देश की सरकार उनके लिए मजदूरों श्रमिकों के लिए नए कल’ कारखाने फैक्ट्रियां सृजन करने की बात नहीं करती है वह बल्कि चल रही कल, कारखाने फैक्ट्रियों टैक्स लगाकर जीएसटी लगाकर उसको बंद करदी है और बची हुई सरकारी संपत्तियों को जिस तरह से 70 साल का विकास पूछ पूछ कर उसे बेचने का काम की जा रही है यह सरकार सिर्फ जाति धर्म और भेदभाव ऊंच-नीच करने में 7 साल जिस तरह से कुशासन की सरकार मोदी सरकार हमेशा ब्रह्म जुमला दिया भारत की जिस तरह से बढ़ती हुई महंगाई की मार जनता को अर्थव्यवस्था से कर दिया लाचार युवा हो गए हैं बेरोजगार यह समस्या का नहीं कर रहा है निराधार यह है मोदी सरकार अब इस बार उत्तर प्रदेश उत्तराखंड गोवा पंजाब से जागरूक जनता ने किया है ललकार अब नहीं चलेगी जुमला नहीं चलेगी मोदी सरकार के झूठ का बंद करो व्यापार यह सरकार धोखा जुमला और झूठ लेकर जिस तरह से ताना-बाना बुनने का काम कर रहा है अब देश सावधान सतर्क हो गया है आने वाले 2022 के पांच राज्यों के चुनाव से संकेत देगा कि अब आपको चुनावी जुमला से हम अवगत हैं अब हम आपकी विदाई करने जा रहे हैं 2022 तो अंगड़ाई है 2024 असली लड़ाई है

अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक
Author: अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक

The news related to the news engaged in the Apna Chhattisgarh web portal is related to the news correspondents. The editor does not necessarily agree with these reports. The correspondent himself will be responsible for the news.

Leave a Reply

You may have missed

error: Content is protected !!