ApnaCg @भिलाई-3, कुम्हारी और जामुल को मिलाकर बनेगा अनुविभाग

0

मुख्यमंत्री ने अनुविभाग कार्यालय खोले जाने की घोषणा की
भिलाई-3 में नवीन तहसील कार्यालय का किया शुभारंभ
उप पंजीयक कार्यालय भी जल्द शुरू किया जाएगा

दुर्ग @अपना छत्तीसगढ़ – भिलाई नगर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को भिलाई-3 में तहसील कार्यालय व उप तहसील कार्यालय का शुभारंभ किया। लोकार्पण के दौरान मुख्यमंत्री ने कार्यालय का भ्रमण कर व्यवस्था का जायज़ा भी लिया। गौरतलब है कि भिलाई-3 को मिलाकर अब दुर्ग जिले में 6 तहसील हो चुके हैं। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री बघेल ने पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार की माँग पर भिलाई-3, कुम्हारी और जामुल को मिलाकर अनुविभाग बनाने की घोषणा की। अनुविभागीय अधिकारी का कार्यालय भिलाई-3 में ही स्थापित किया जाएगा। साथ ही भिलाई-3 में उप रजिस्ट्रार कार्यालय खोलने की भी घोषणा की। भिलाई-3 में निर्मित तहसील कार्यालय व उप तहसील कार्यालय में बाउंड्री वॉल भी कराए जाने की घोषणा की गई। भिलाई में बनने वाले स्टेडियम परिसर में जैतखाम और मंदिर के लिए स्थान सुरक्षित रखने के लिए भी मुख्यमंत्री ने कहा।
अहिवारा क्षेत्र में नल जल योजना की माँग पर मुख्यमंत्री ने सर्वे कराने के बाद नल जल योजना प्रारंभ करने को कहा। वहीं महापौर निर्मल कोसरे की ओर से भिलाई-3 में स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने, नवीन निगम कार्यालय और डबरापारा से कुम्हारी तक केनाल की माँग रखी गई। इन माँगों पर तकनीकी परीक्षण कराकर निर्णय की बात मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कही। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के बच्चों को भी बेहतर अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने की पहल की है। राज्यभर में वर्तमान में 172 सरकारी अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। इन स्कूलों में एक कक्षा में अब 40 से बढ़ाकर 50 बच्चों को प्रवेश देने का निर्णय लिया है।
नवीन तहसील कार्यालय व उप तहसील कार्यालय का शुभारंभ करने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि, भिलाई-3 तहसील कार्यालय और उप तहसील कार्यालय खुलने से जितनी खुशी यहाँ आप लोगों को हो रही है, उतनी खुशी मुझे भी हो रही है क्योंकि मैं खुद यहाँ का निवासी हूँ और यहाँ का किसान हूँ। यहाँ तहसील कार्यालय की माँग बहुत पुरानी थी और यह क्षेत्र की जनता की आवश्यकता भी थी। तहसील कार्यालय की सौगात मिलने पर मुख्यमंत्री ने क्षेत्रवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएँ दीं। साथ ही अक्षय तृतीया की बधाई एवं शुभकामनाएँ दीं।
उन्होंने कहा कि, हमने अब तक 85 तहसीलों की घोषणा कर दी है, जिसमें 52 तहसील प्रभावशील हो चुके हैं। किसी भी राज्य सरकार द्वारा इतने कम समय में इतनी संख्या में तहसील का गठन नहीं किया गया है। हमारी सरकार ने तीन साल के भीतर ही अब तक 6 जिलों का भी गठन कर दिया है। जिसमें एक ज़िला गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में कामकाज शुरू हो चुका है। शेष पाँच जिलों की शुरुआत जल्द ही होगी।
मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि, जितनी ज़्यादा प्रशासनिक इकाई नजदीक होगी, जनता को उतनी ज्यादा सुविधाएँ मिलेंगी। तहसील कार्यालय खुलने से जहां ज़मीन संबंधी प्रकरणों की सुनवाई होती है। वहीं जाति प्रमाण-पत्र, निवास प्रणाम-पत्र समेत अनेक तरह के काम में क्षेत्रीय जनता को आसानी होगी। उन्होंने कहा कि जनता की सुलभ न्याय, सहज पहुँच और सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए ही राज्य सरकार प्रशासनिक इकाई को जनता के नजदीक ले जाने की कोशिश कर रही है।
इस अवसर पर पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार ने क्षेत्र की जनता की ओर से मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया और नागरिक सुविधाओं संबंधी कार्यों का आग्रह मुख्यमंत्री से किया। इस मौके पर नगर निगम के महापौर निर्मल कोसरे, सभापति कृष्णा चंद्राकर, नगर पालिका के कुम्हारी के अध्यक्ष राजेश्वर सोनकर समेत स्थानीय जनप्रतिनिधि मंचस्थ थे।
शहरी क्षेत्र में भी खुलेंगे गौठान –
सभा के दौरान मंच के सामने मौजूद जनता में से एक व्यक्ति ने भिलाई-3 में गौठान की माँग की। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि निश्चित रूप से शहरों में भी गौठान होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने तत्काल भिलाई-3 और चरोदा में गौठान बनाने की घोषणा करते हुए मंच से ही कार्यक्रम में मौजूद कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे को गौठान के लिए भूमि का चिन्हांकन कर निर्माण के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गौठान अब ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। नगरीय क्षेत्रों में भी गौठान खुल जाने से इसका लाभ शहरी निवासियों को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में गौठान सब्जी मंडी और बाजारों के नजदीक बनाए जाएं, जिससे बाजार से निकलने वाली सब्जियां मवेशियों के चारे के काम आ सकती हैं।

अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक
Author: अपना छत्तीसगढ़ / अक्षय लहरे / संपादक

The news related to the news engaged in the Apna Chhattisgarh web portal is related to the news correspondents. The editor does not necessarily agree with these reports. The correspondent himself will be responsible for the news.

Leave a Reply

You may have missed

error: Content is protected !!